Sandhya TV

4:16:57 PM
Trending Now

चंद्रयान- 3 आज होगा रवाना इसरो के बहुप्रतीक्षित मिशन पर दुनिया की नजर, दोपहर 2.35 बजे होगा प्रक्षेपित

चंद्रयान- 3 आज होगा रवाना इसरो के बहुप्रतीक्षित मिशन पर दुनिया की नजर
  • 24 अगस्त तक पहुचने की हैं संभावना
  • 642 टन वजन वाले बाहुबली रॉकेट से होगा प्रक्षेपण

भारत के अब तक के चंद्रयान मिशन
1.15 अगस्त 2003 को चंद्रयान कार्यक्रम की औपचारिक रूप घोषणा पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी ने की थी.

  1. 22अक्टूबर 2008 को इसरो के पीएसएलवी-सी 11 रॉकेट पर चंद्रयान-1 मिशन, लॉन्च हुआ.100 किमी की ऊंचाई पर चंद्रमा के चारो ओर चंद्रयान-1 परिक्रमा करके कई अहम जनाकारिया जुटाई.

3.2009 में अंतरक्ष यान की कक्षा को 200 किमी तक बड़ा दिया गया. 29अगस्त,2009 को अंतरिक्षयान से संपर्क टूटने पर पहला मिशन समाप्त हो गया.

4.22 जुलाई,2019 को चंद्रयान-2 को प्रक्षेपित किया गया,20 अगस्त 2019 को चंद्रयान-2 चंद्रमा की कक्षा में पहुंचा. 2.1 किलोमीटर चंद्रमा की सतह की ऊंचाई पर अचानक वैज्ञानिकों का विक्रम लंडर से संपर्क टूट गया और मिशन भी साथ में टूट गया.

5.चंद्रयान-3 चंद्रयान की सतह पर सॉफ्ट लेडिंग करके चंद्रयान-2 के अधूरे कामों को पूरा करेगा जिस पर दुनिया की नजर रहेगी.

भारत की अंतरिक्ष कारोबार में हिस्सेदारी बढ़ेगी

तिरुवनन्तपुरम,इसरो के पूर्व वैज्ञानिक नाबी नारायणन ने कहा कि चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग से भारत चौथा देश बन जाएगा. इससे अंतरिक्ष विज्ञान के विकास को गति मिलेगी. वहीं अंतरिक्ष कारोबार में हिस्सेदारी बढ़ाने में भी मदद मिलेगी.इस पर दुनिया नजर टिकाये बेठा हैं.

इसरो प्रमुख एस सोमनाथ ने परमेश्वरिनी मंदिर में पूजा-अर्चना की

इसरो के अध्यक्ष एस सोमनाथ ने चंद्रयान-3 मिशन के प्रक्षेपण से पहले सुल्लुरपेटा में श्री चेंगलम्मा परमेश्वरिनी मंदिर में पूजा-अर्चना की. इस दौरान सोमनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि मुझे चेंगलम्मा देवी के आशीर्वाद की बहुत जरूरत थी. मैं इस मिशन की सफलता के लिए प्रार्थना करने और आशीर्वाद लेने के लिए यहां आया हूँ और उन्हें पूरा विश्वाश हैं की वो सफल होंगे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Need Help?